Payment Process

Home / Payment Process
ग्लोबल नेशनल पेमेंट बैंक अपने प्रिय ग्राहंक को दो माध्यम से रूपया  का भुगतान करती है, जो निम्नलिखित है I

​ग्लोबल नेशनल पेमेंट बैंक अंतराष्ट्रीय बाजार का एक भुगतान प्रणाली है, इस भुगतान प्रणाली से राशी को लेने के लिए आपके खाते में आये हुए राशी का आयकर विभाग से ITR Copy लेना अनिवार्य होगा I

यदि किसी ग्राहंक के खाते में अन्तराष्ट्रीय बाजार से 10 करोड़ रूपया का डिपोजिट होता है तो उस ग्राहंक को 10 करोड़ रूपया का अपने आयकर विभाग से रिटर्न फाइल लेना अनिवार्य होगा I

करंट अकाउंट बाले ग्राहंक को फॉर्म – AVII भी भरना पड़ता है, जो कि ग्लोबल नेशनल पेमेंट बैंक द्वारा दिया जाता है I

ग्राहंक अपने नजदीकी आयकर कार्यलय से भी रिटर्न कॉपी ले सकते हैं I

ग्राहंक अगर इनकम टैक्स में शक्षम नहीं है तो, वे National Payment Corporation of India से एन. ओ. सी. ले सकते हैं I

ग्राहंक को एन. ओ. सी. A लेना होता है, जिससे कि यह मालुम चल सके कि वह राशि उशी ग्राहंक के लिए अदा किया गया हो I

The Global National Payment Bank pays the rupee through two means to its dear customer, which is the following.

The Global National Payment Bank is a payment system of the international market, it is mandatory to take the ITR copy from the Income Tax Department in your account to take the amount from this payment system.

If a customer has a deposit of 10 crores from the international market in the account of a customer, that customer will be required to file a return file from his income tax department of Rs 10 crores.

The current account holder has to fill up the form – AVII, which is given by the Global National Payment Bank.

Customers can also get copies of the returns from their nearest Income Tax office.

To the customer It is supposed to takeN O C (A), so that it can be seen that the amount has been paid for the Ushi Sankhnag.

Income tax or to the customer N O C. It is mandatory to give one of the two papers, otherwise the buyers will not be able to clear or withdraw their money.

If you want a subscriber, you can take more money on the basis of installment, the first fixed amount will be 15 crores.

ग्राहंक को इनकम टैक्स या एन. ओ . सी. दोनों में से कोई एक पेपर देना अनिवार्य है, अन्यथा ग्राहंक अपने पैसे का निकासी या लेनदेन नहीं कर सकेंगे I

If the customer is not able to pay income tax, then he can get N. from National Payment Corporation of India. N O C can take

ग्राहंक चाहें तो, ज्यदा रकम को क़िस्त के आधार पर ले सकते हैं, पहला निर्धारित रकम 15 करोड़ होगा I